Coal Mining Day: 4 May

कोयला खनन दिवस : 4 May

  1. प्रत्येक वर्ष 4 मई को कोयला खनिकों को सम्मानित करने हेतु कोयला खनन दिवस मनाया जाता है।
  2. कोयला खनिकों के लिए प्रशंसा दिखाने और उनकी उपलब्धियों का सम्मान करने हेतु यह दिन मनाया जाता है।
  3. कोयला एक प्राकृतिक संसाधन है जो आर्थिक और सामाजिक विकास दोनों में वृद्धि करता है।
  4. भारत में, कोयला खनन की शुरुआत 1773 में हुई जब ईस्ट इंडिया कंपनी के जॉन समर और सुएटोनियस ग्रांट हीटली ने दामोदर नदी के पश्चिमी किनारे के साथ रानीगंज कोलफील्ड में वाणिज्यिक खोज शुरू की
  5. 1853 में रेलवे द्वारा भाप इंजनों की शुरुआत के साथ ही कोयले की मांग में वृद्धि हुई।
  6. वर्ष 1956 में राष्ट्रीय कोयला विकास निगम की स्थापना के बाद सरकार ने देश के कोयला खनन क्षेत्र के विकास पर विशेष ध्यान देना आरंभ किया।
  7. वर्ष 1973 में भारत में कोयले के राष्ट्रीकरण के बाद वर्ष 1975 में कोल इंडिया लिमिटेड ( CIL) की स्थापना की गई थी।
  8. विश्व में सबसे अधिक कोयला भंडार की उपलब्धता वाले देशों की सूची में भारत का 5वाँ स्थान है।
  9. आजादी के बाद, भारत सरकार ने पंचवर्षीय योजनाओं के आधार पर खनन उद्योग और विकास पर अधिक ध्यान केंद्रित किया।
  10. भारतीय राज्य जैसे छत्तीसगढ़,ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल, और देश के कुछ अन्य मध्य और दक्षिणी हिस्से महत्वपूर्ण कोयला आपूर्तिकर्ता क्षेत्र हैं।